Question :

पेट्रोलियम में पाए जाने वाले हाइड्रोकार्बन के पृथक्करण में प्रायः यह प्रक्रिया अपनाई जाती है-


A) हाइड्रोजनीकरण
B) उत्प्रेरकी भंजन
C) प्रभाजी आसवन
D) बहुलकीकरण

Answer : C

Description :


प्रभाजी आसवन-पेट्रोलियम में पाए जाने वाले हाइड्रोकार्बन के पृथक्करण में यह प्रक्रिया अपनायी जाती है।


Related Questions - 1


एक तत्व XCI3 X2O5 और Ca3X2सूत्र वाले यौगिक बनाता है, लेकिन xCI5 नहीं बनाता है निम्नलिखित से कौन-सा तत्व x हो सकता है?


A) B
B) AI
C) N
D) P

View Answer

Related Questions - 2


गन्ने की शक्कर को ग्लूकोज तथा फ्रक्टोज में जल अपघटित करने वाला एन्जाइम है -


A) लाइपेज
B) इनवर्टेज
C) जायमेज
D) डाइस्टेज

View Answer

Related Questions - 3


भारतीय केन्द्रीय औषधि अनुसंधान संस्थान स्थित है -


A) इलाहाबाद में
B) दिल्ली में
C) लखनऊ में
D) बैंग्लोर में

View Answer

Related Questions - 4


प्लास्टिक उद्योग में पी.वी.सी. शब्द निम्नलिखित के लिए प्रयुक्त होता है-


A) पॉलिविनाइल कार्बोनेट
B) पॉलिविनाइल क्लोराइड
C) फॉस्फोविनाइल क्लोराइड
D) फॉस्फोवेनेडियम क्लोराइड

View Answer

Related Questions - 5


साम्य अभिक्रिया ‘A + B = AB + ऊष्मा’ (एक बन्द पात्र) में अग्रवर्ती अभिक्रिया दर को निम्नलिखित द्वारा बढ़ाया जा सकता है-

 

I. AB की सांद्रता को बढ़ाकर

 

II. A की सांद्रता को बढ़ाकर

 

III. उत्पाद AB को हटाकर


A) केवल I
B) केवल III
C) केवल I व III
D) केवल II व III

View Answer