Question :

‘बिहारी सतसई’ किस भाषा का काव्य ग्रन्थ है?


A) ब्रजभाषा
B) खड़ी बोली
C) अवधी
D) भोजपुरी

Answer : A

Description :


बिहारी सतसई ब्रजभाषा में लिखा काव्य है। इसे कवि बिहारी ने लिखा है, जो रीतिकाल के एकमात्र रीतिसिद्ध कवि हैं।

 

अन्य विकल्प सम्बन्धित हैं-

खड़ी बोली – साकेत, कामायनी, प्रियप्रवास, वैदेही वनवास।

अवधी – रामचरितमानस, पद्मावत, मृगावती, मधुमालती, हंसावली आदि।


Related Questions - 1


निम्न में कौन-सी बोली उ.प्र. की नहीं है?


A) मेवाती
B) कन्नौजी
C) भोजपुरी
D) ब्रज

View Answer

Related Questions - 2


पारिभाषिक शब्द है-


A) जो प्रत्येक क्षेत्र में अर्थ को प्रकट करते हैं।
B) जिनकी परिभाषा या व्याख्या नहीं की जा सकती हो।
C) जो किसी क्षेत्र विशेष में एक निश्चित और परिसीमित अर्थ को प्रकट करते हैं।
D) जो किसी क्षेत्र विशेष में एक निश्चित और परिसीमित अर्थ को प्रकट नहीं करते हैं।

View Answer

Related Questions - 3


उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सन् 1974ई. में गठित ‘देवनागरी लिपि सुधार समिति’ के अध्यक्ष थे-


A) डॉ. धीरेन्द्र वर्मा
B) संपूर्णानन्द
C) आचार्य नरेन्द्र देव
D) इनमें से कोई नहीं

View Answer

Related Questions - 4


सही विकल्प बताओं-

 

भाषा संकेतात्मक है इसमें जो ध्वनियाँ उच्चारित होती हैं वे-


A) ध्वनियाँ संकेतात्मक या अप्रतीकात्मक होती है।
B) ध्वनियाँ संकेतात्मक या प्रतीतात्मक होती है।
C) ध्वनियाँ संकेतात्मक या प्रतीकात्मक होती है।
D) ध्वनियाँ संकेतात्मक या प्रगीकात्मक होती है।

View Answer

Related Questions - 5


भाषा की सार्थक लघुत्तम इकाई है-


A) शब्द
B) पद
C) ध्वनि
D) वाक्य

View Answer