Question :

रितिकालीन कवियों की काव्य भाषा क्या थी?


A) अवधी
B) खड़ीबोली
C) ब्रजभाषा
D) बुन्देली

Answer : C

Description :


ब्रजभाषा रीतिकालीन कवियों की काव्यभाषा थी।

 

अन्य विकल्प सम्बन्धित हैं-

अवधी भक्तिकाल के रामकाव्य की भाषा थी एवं खड़ीबोली आधुनिक काल की भाषा है।


Related Questions - 1


पालि को __________ भाषा भी कहा जाता है।


A) लोक भाषा
B) देव भाषा
C) देश भाषा
D) जन भाषा

View Answer

Related Questions - 2


सुमेलित कीजिये-

 

भाषा                 रचना

(a) अवहट्ट        1. भँवरगीत

(b) ब्रजभाषा      2. प्रियप्रवास

(c) अवधी         3. कीर्तिलता

(d) खड़ी बोली    4. प्रबंध चिन्तामणि

                      5. मधुमालती

 

कूट : (a) (b) (c) (d)


A) 4 3 2 1
B) 5 4 2 3
C) 1 5 3 4
D) 3 1 5 2

View Answer

Related Questions - 3


सही विकल्प बताओ-

 

भाषा वाचिक ध्वनि-संकेत है-


A) मनुष्य अपनी घ्राणेन्द्रियों की सहायता से संकेतों का उच्चारण करता है।
B) मनुष्य अपनी इन्द्रियों की सहायता से संकेतों का उच्चारण करता है।
C) मनुष्य अपनी बागिन्द्रियों की सहायता से संकेतों का उच्चारण करता है।
D) मनुष्य अपनी श्रवणोन्द्रियों की सहायता से संकेतों का उच्चारण करता है।

View Answer

Related Questions - 4


'कन्नौजी बोली' मुख्य रुप से निम्न में से कौन-से जिले में बोली जाती है?


A) कानपुर
B) इलाहाबाद
C) फर्रुखाबाद
D) मुरादाबाद

View Answer

Related Questions - 5


निम्न में कौन-सी बोली उ.प्र. की नहीं है?


A) मेवाती
B) कन्नौजी
C) भोजपुरी
D) ब्रज

View Answer