Question :

लौकिक संस्कृत ________ और _________ अपभ्रंश हिन्दी भाषा का उचित विकास क्रम है। रिक्त स्थान के लिए उचित विकल्प कौन-सा है?


A) पाली, प्राकृत
B) संस्कृत, प्राकृत
C) वैदिक भाषा, पालि
D) प्राकृत, पालि

Answer : A

Description :


लौकिक संस्कृत पालि और प्राकृत अपभ्रंश हिन्दी भाषा का उचित विकास क्रम है, शेष विकल्प असंगत है। उपर्युक्त व्याख्या का अवलोकन करें।


Related Questions - 1


पूर्वी हिन्दी की बोली है-


A) खड़ीबोली
B) मेवाती
C) कन्नौजी
D) अवधी

View Answer

Related Questions - 2


खड़ीबोली को प्रधानता देने में सर्वाधिक योगदान रहा-


A) ब्रहा समाज
B) प्रार्थना समाज
C) थियोसोफिकल सोसाइटी
D) आर्य समाज

View Answer

Related Questions - 3


‘उतारन’ को खड़ी बोली में क्या कहते हैं?


A) पहना हुआ या पहन कर फेंका गया जूठन वस्त्र
B) किसी की नजर उतारना
C) जमीन पर उतारना
D) तारने वाला

View Answer

Related Questions - 4


बोली किसकी इकाई है?


A) भाषा की छोटी इकाई
B) अंचल की छोटी इकाई
C) राज्य की छोटी इकाई
D) देश की छोटी इकाई

View Answer

Related Questions - 5


हिन्दी के अतिरिक्त कौन-सी भाषा देवनागरी लिपि में लिखी जाती है?


A) सिंधी
B) पंजाबी
C) बांग्ला
D) नेपाली

View Answer