Question :

टूट चाप नहिं जुरै रिसाने का अर्थ है -


A) टूटा धनुष क्रोध करने से नहीं जुड़ता
B) चिन्ता छोड़ो सुख से जिओ
C) नुकसान के लिए परेशान नहीं होना चाहिए
D) नुकसान हो जाने पर क्रोध करना व्यर्थ है

Answer : D

Description :



Related Questions - 1


सप्तर्षि में समास है -


A) कर्मधारय
B) तत्पुरुष
C) द्वन्द्
D) द्वीगु

View Answer

Related Questions - 2


किस समास में प्रथम पद संख्यावाची तथा अन्तिम पद संज्ञा हो, वह है ।


A) द्वन्द् समास
B) तत्पुरुष समास
C) द्विगु समास
D) अव्ययीभाव समास

View Answer

Related Questions - 3


निर्देश :- नीचे दिए गए प्रत्येक प्रश्न में वाक्य के पहले और अंतिम भागों को क्रमश: 1 और 6 की संख्या दी गयी है | इनके बीच में आने वाले अंशो को चार भागों में बाँटकर य, र, ल, व, की संख्या दी गयी है | ये चारों भाग उचित क्रम में नहीं हैं इन्हें ध्यान से पढ़कर दिए गए विकल्पों में से उचित क्रम चुनिए जिससे वाक्य का निर्माण हो |

 

(1) मरुभूमि राजस्थान की प्रत्येक स्थली पर

(य) जहाँ पद्यिनी और लक्ष्मीबाई ने देश के हितार्थ तलबार धारण की

(र) जहाँ की देवियों ने अपने सतीत्व की

(ल) रक्षा के लिए अपने प्राण अग्निदेव को समर्पित कर दिए

(व) वहाँ के वीरों का रक्त प्रवाहित हुआ

(6) और शुत्रुओं का मान मर्दन किया।


A) य र ल व
B) व य र ल
C) ल व य र
D) व र ल य

View Answer

Related Questions - 4


‘बिजली’ शब्द का पर्यायवाची नहीं है -


A) वितुंडा
B) दामिनी
C) चंचला
D) तड़ित

View Answer

Related Questions - 5


‘Conference’  का हिन्दी पर्याय है


A) बैठक
B) सम्मेलन
C) समारोह
D) वार्तालाप

View Answer