Question :

द्रव हाइड्रोकार्बन को कम आण्विक द्रव्यमान के गैसीय हाइड्रोकार्बन में निम्नलिखित प्रक्रम द्वारा परिवर्तित किया जाता है-


A) हाइड्रोजनीकरण
B) रिफॉर्मिग
C) भंजन
D) अपचयन

Answer : C

Description :


भंजन द्वारा द्रव हाइड्रोकार्बन को कम आण्विक द्रव्यमान के गैसीय हाइड्रोकार्बन में परिवर्तित किया जाता है।


Related Questions - 1


ऑक्सीकरण वह प्रक्रिया है जिसमें-


A) इलेक्ट्रॉनों की हानि होती है
B) हाइड्रोजन का लाभ होता है
C) इलेक्ट्रॉनों का लाभ होता है
D) इलेक्ट्रॉनों की संख्या में कोई बदलाव नहीं होता है

View Answer

Related Questions - 2


कभी-कभी यह देखा गया है कि जब हम किसी शीशे के बर्तन में गर्म दूध या जल डालते हैं तो वह चटक जाता हैं। इसका क्या कारण है ?


A) शीशा आसानी से गर्म हो जाता है
B) खौलते हुए द्रव अधिक दाब उत्पन्न करते हैं
C) शीशा ऊष्मा का खराब चालक है
D) शीशा अधातु होता है

View Answer

Related Questions - 3


किसी निश्चित तापमान पर संतृप्त विलयन कैसा होता है ?


A) रंगहीन
B) अत्यधिक रंगीन
C) और अधिक ठोस विलेय घोलने में असमर्थ
D) निलंबित (suspended) ठोस कण वाला

View Answer

Related Questions - 4


एंसिटिल सेलिसिलिक अम्ल आमतौर पर निम्नलिखित काम में लाया जाता है -


A) आंसू गैस
B) उर्वरक
C) पीड़ा हर
D) शामक औषध (sedative)

View Answer

Related Questions - 5


हाइड्रोजन सल्फाइड अथवा हाइड्रोजन क्लोराइड की तुलना में जल का क्वथनांक असामान्य रुप से अधिक होने का कारण है-


A) वांडर-वॉल्स (vander-waal’s) बल
B) ध्रुवीय सहसंयोजक आबंधन (bonding)
C) द्विध्रुव रोधन (dipole insulation)
D) हाइड्रोजन आबंधन

View Answer