Question :

किसी पिंड का द्रव्यमान उसके अपने भार से भिन्न होता है, क्योंकि


A) द्रव्यमान एक चर राशि है जबकि भार स्थिर राशि है।
B) भिन्न-भिन्न स्थानों पर द्रव्यमान में बहुत कम और भार में अधिक परिवर्तन होता है।
C) विषुवत रेखा से ध्रुवों पर जाने से द्रव्यमान स्थिर रहता है और भार में वृद्धि होती है।
D) पदार्थ की मात्रा का मापक द्रव्यमान है किन्तु भार एक बल है।

Answer : D

Description :



Related Questions - 1


नाभिकीय रिऐक्टर में विमन्दक का कार्य -


A) द्वितीयक (secondary) न्यूट्रॉनों की संख्या को विमन्दित करना है
B) द्वितीयक न्यूट्रॉनों को धीमा करना है
C) विखंडनीय नाभिकों की संख्या में वृद्धि करना है
D) विखंडन अभिक्रिया का नियंत्रण करना है

View Answer

Related Questions - 2


यदि वायुमंडल न होता, तो दिन की अवधि


A) कम हो जाती
B) में कोई परिवर्तन नहीं होता
C) बढ़ जाती
D) लगभग आधी हो जाती

View Answer

Related Questions - 3


मानव नेत्र का वह भाग जो फोटाग्राफी कैमरा के द्वारक के समान कार्य करता है -


A) परितारिका (iris) कहलाता है
B) लेंस कहलाता है
C) तारा (पुतली) कहलाता है
D) रोमाभ पेशियां (ciliary muscles)कहलाता है

View Answer

Related Questions - 4


विद्युत् परिपथों में, फ्यूजों की अपेक्षा लघु-परिपथ-भंजन (M.C.B) को प्राथमिकता दी जाती हैं क्योंकि -


A) MCB ओवरलोडिगं का वहन आग लगे बिना कर लेता है
B) फ्यूज की तुलना में MCB सस्ता है
C) ओवरलोड को दूर करने के बाद, को एक लीवर दबाकर (M.C.B) पुनः सैट किया जा सकता है
D) फ्यूज उचित कार्यदर की धारा के अनुसार उपल्ब्ध नहीं होते

View Answer

Related Questions - 5


आंख की पुतली -


A) कम दूरी की दृष्टि (vision) के लिए स्वतः समायोजित (adjust) हो जाती है
B) वर्ण अनुसार स्वतः समायोजित हो जाता है
C) प्रकाश की तीव्रता अनुसार स्वतः समायोजित हो जाता है
D) दृश्य के आकार के अनुसार स्वतः समायोजित हो जाता है

View Answer