Question :

कहाँ राजा भोज कहाँ गंगू तेली का अर्थ है -


A) ऊटपटांग बात करना
B) राजा और सामान्य व्यक्ति की तुलना
C) राजा भोज और गंगू तेली के बीच तुलना करने का प्रयास
D) आकाश-पाताल का अन्तर होना

Answer : D

Description :



Related Questions - 1


निर्देश :- नीचे दिए गए प्रत्येक प्रश्न में वाक्य के पहले और अंतिम भागों को क्रमश: 1 और 6 की संख्या दी गयी है | इनके बीच में आने वाले अंशो को चार भागों में बाँटकर य, र, ल, व, की संख्या दी गयी है | ये चारों भाग उचित क्रम में नहीं हैं इन्हें ध्यान से पढ़कर दिए गए विकल्पों में से उचित क्रम चुनिए जिससे वाक्य का निर्माण हो |

 

(1) जब तक प्रेमचन्द जी

(य) मुझे मुश्किल से घण्टे-आधे घण्टे का समय मिलता

(र) मेरे घर रहे

(ल) जब मैं उनके साथ चाय पीता था

(व) अन्यथा उनका समय अन्य व्यक्ति अधिकतर

(6) उनकी अनिच्छा से अपने अधिकार में कर लेते।


A) य व ल र
B) र य ल व
C) ल र व य
D) व य र ल

View Answer

Related Questions - 2


निम्नलिखित में कौन-सा शब्द अरबी-फारसी उपसर्ग युक्त नहीं हैं ?


A) समवाय
B) नाकाम
C) हमसफर
D) बेधड़क

View Answer

Related Questions - 3


‘तिक्त’ शब्द का तत्सम रुप है -


A) तीता
B) तीखा
C) तिक्ता
D) तिखन

View Answer

Related Questions - 4


निज भाषा उन्नति अहै सब उन्नति कौ मूल।

बिन निज भाषा ज्ञान के मिटे न हिए कौ शूल।।

 

प्रस्तुत पंक्तियों में कौन-सा छंद है ?


A) सोरठा
B) दोहा
C) रोला
D) हरिगीतिका

View Answer

Related Questions - 5


‘गृध्र’ शब्द का तद्भव रुप है -


A) गीधना
B) गृध
C) गीधी
D) गीध

View Answer