Question :

सूर्य से ऊर्जा उत्सर्जित होती है-


A) नाभिकीय संलयन से
B) नाभिकीय विखण्डन से
C) रासायनिक अभिक्रिया से
D) कोयला जलने से

Answer : A

Description :


नाभिकीय संलयन से सूर्य से ऊर्जा उत्सर्जित होती है।

 

जब दो हल्के नाभिक आपस में जुड़कर एक भारी नाभिक बनाता है तो इस अभिक्रिया में ऊर्जा मुक्त होती है जो नाभिकीय संलयन कहलाता है।

 

सूर्य में हाइड्रोजन के नाभिक आपस में जुड़कर हीलियम के नाभिक में पारिर्वतित होते हैं तथा बड़े पैमाने पर ऊर्जा मुक्त होती है।

 

बड़े नाभिक टूटकर जब दो हल्के नाभिक में परिर्वतित होते हैं, जिसके फलस्वरुप बड़े पैमाने पर ऊर्जा मुक्त होती है ऐसी क्रिया को नाभिकीय विखण्डन कहते है। नाभिकीय विखण्डन की क्रिया मंद गति वाले न्यूट्रॉन से करायी जाती है।


Related Questions - 1


जिस बिंदु पर किसी पदार्थ की ठोस, तरल तथा गैसीय रुपों का सह-अस्तित्व होता है उसे कहते हैं-


A) क्वथनांक
B) गलनांक
C) त्रिक बिन्दू (triple point)
D) हिमांक

View Answer

Related Questions - 2


हाइड्रोजन में एक इलेक्ट्रॉन लेकर हीलियम का विन्यास प्राप्त करने की प्रवृत्ति होती है, इस प्रवृत्ति की समानता रखता है-


A) क्षार धातुओं से
B) अक्रिय गैसों से
C) क्षारीय मृदा धातुओं से
D) हैलोजनों से

View Answer

Related Questions - 3


मैग्नीशिया मुख्य उपयोग है-


A) मृदुविरेचक (mild laxative)
B) प्रतिरोधी
C) प्रतिजैविक
D) पीड़ाहारी

View Answer

Related Questions - 4


गांधीजी के द्वारा स्वतंत्रता के लिए संघर्ष के दौरान विरोध के प्रतीक के रुप में किस रसायन का प्रयोग किया गया?


A) सोडियम क्लोराइड
B) ग्लूकोज
C) उर्वरक
D) औषधि

View Answer

Related Questions - 5


प्लास्टर ऑफ पेरिस हैं-


A) CaSO4.5H2O
B) CaSO4.2H2O
C) CaSO4.1/2H2O
D) CaSO4.MgO

View Answer