Question :

त्रिरत्न सिद्धान्त-समयक् दर्शन, समयक् चरित्र समयक् ज्ञान, जिस धर्म की महिमा है, वह हैः


A) बौद्ध धर्म
B) ईसाई धर्म
C) जैन धर्म
D) इनमें से कोई नहीं

Answer : C

Description :



Related Questions - 1


त्रिरत्न सिद्धान्त-समयक् दर्शन, समयक् चरित्र समयक् ज्ञान, जिस धर्म की महिमा है, वह हैः


A) बौद्ध धर्म
B) ईसाई धर्म
C) जैन धर्म
D) इनमें से कोई नहीं

View Answer

Related Questions - 2


इनमें से कौन-सी ‘तमिलभूमि की बाइबिल के’ नाम से जानी जाती है : 


A) शिलप्पाधिकारम
B) मुरूगरूप्पाडिया
C) तिरूक्कुरल
D) आयनगुरूनुरू

View Answer

Related Questions - 3


बादामी के चालुक्यों द्वारा मंदिर बनाने की विधि की कौन-सी विधि विकसित की गई थी ?


A) नागर विधि
B) द्रविड़ विधि
C) बेसर विधि
D) गोपुरम विधि

View Answer

Related Questions - 4


किस राजवंश ने वारंगल पर सफलतापूर्वक शासन किया ?

 

i, ii और iiii)   कैकेतिया

ii)  रेड्डी

iii)  मुसनुरी नायक

iv) रिचार्ला वेलामास

 

उत्तर चुनिए -


A) i, ii और iii
B) i और ii
C) i और iii
D) i iii और iv

View Answer

Related Questions - 5


किस बौद्ध संन्यासी के प्रभाव में आकर अशोक बौद्ध धर्म का अनुयायी बना ?


A) उपगुप्त
B) उपालि
C) राधागुप्त
D) नागसेन

View Answer