Question :

संस्कृत से हिंदी में प्रयुक्त मूल शब्द से वर्तमान स्थायी तद्भव रुप तक पहुँचने के मध्य में, संस्कृत के अशुद्ध या टूटे-फूटे स्वरुप में प्रयुक्त होने वाले शब्द क्या कहलाते हैं?


A) तत्सम
B) विदेशी
C) देशज
D) अर्द्धतत्सम

Answer : D

Description :


संस्कृत से हिन्दी में प्रयुक्त मूल शब्द से वर्तमान स्थायी तद्भव रुप तक पहुँचने के मध्य में, संस्कृत के अशुद्ध या टूटे-फूटे स्वरुप में प्रयुक्त होने वाले शब्द ‘अर्द्धतत्सम’ कहलाते हैं।

 

तत्सम - किसी भाषा के मूल शब्द को ‘तत्सम’ कहते हैं।

विदेशी शब्द - विदेशी भाषाओं से हिन्दी भाषा में आए शब्दों को ‘विदेशी शब्द’ कहते हैं।

देशज - वे शब्द है, जिनकी व्युत्पत्ति का पता नहीं चलता।


Related Questions - 1


निम्नलिखित शब्दों में से तद्भव शब्द को पहचानिएः


A) प्रस्तर
B) जामुन
C) तैल
D) पौत्र

View Answer

Related Questions - 2


‘मक्खन’ का तत्सम शब्द है-


A) माखन
B) माक्षण
C) मषक्ष
D) म्रक्षण

View Answer

Related Questions - 3


निम्न में कौन-सा शब्द तत्सम है?


A) आलस्य
B) आम
C) आग
D) आसरा

View Answer

Related Questions - 4


नीचे दिए गए विकल्पों में से तत्सम शब्द का चयन कीजिए।


A) आम्र
B) दूध
C) शहीद
D) खिड़की

View Answer

Related Questions - 5


निम्नलिखित में से तद्भव शब्द ‘अटारी’ का तत्सम रुप होगा-


A) अटारिक
B) अटालिका
C) अटाल्लिका
D) अट्टालिका

View Answer