Question :

ध्रुवपद-धमार गायन शैली का प्रवर्तक किसे माना जाता है?


A) तानसेन
B) अमीर खुसरो
C) स्वामी हरिदास
D) बैजू वावरा

Answer : C

Description :


स्वामी हरिदास जी को ध्रुपद-धमार का प्रवर्तक और साथ ही मंदिरों में ध्रुपद गायन द्वारा अर्चना-पद्धति का भी प्रवर्तक माना जाता है। कुछ विद्वान ध्रुपद की डागुर बानी का भी प्रवर्तक स्वामी हरिदास को मानते हुए ध्रुपद संगीतज्ञों के प्रसिद्ध डागर परिवार को उन्हीं से जोड़ते हैं।


Related Questions - 1


पुर्वोत्तर रेलवे का मुख्यालय कहाँ है?


A) वाराणसी
B) हाजीपुर
C) गोरखपुर
D) इलाहाबाद

View Answer

Related Questions - 2


पाण्डुलिपि पुस्तकालय कहाँ है?


A) लखनऊ
B) कानपुर
C) गाजियाबाद
D) इलाहाबाद

View Answer

Related Questions - 3


पटेल लोक सांस्कृतिक संस्थान की स्थापना कहाँ की जा रही है?


A) ग्रेटर नोएडा में
B) नोएडा
C) कानपुर
D) झाँसी

View Answer

Related Questions - 4


इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस स्टडीज इन एजूकेशन कहाँ है?


A) कानपुर
B) इलाहाबाद
C) वाराणसी
D) लखनऊ

View Answer

Related Questions - 5


उत्तर प्रदेश में किसान-मित्र योजना कब प्रारंभ की गई?


A) 2000 ई.
B) 2001 ई.
C) 2008 ई.
D) 2013 ई.

View Answer