Question :

कनक कनक ते सौगुनी, मादकता अधिकाय।

वा खाए बौरात नर, या पाए बौराय।।

 

प्रस्तुत पंक्तियों में कौन-सा अलंकार है ?


A) उपमा
B) यमक
C) अनुप्रास
D) श्लेष

Answer : B

Description :



Related Questions - 1


‘प्रिय’ का तद्भव रुप है।


A) पिया
B) प्रेम
C) प्रिया
D) प्यार

View Answer

Related Questions - 2


कहाँ राजा भोज कहाँ गंगू तेली का अर्थ है -


A) ऊटपटांग बात करना
B) राजा और सामान्य व्यक्ति की तुलना
C) राजा भोज और गंगू तेली के बीच तुलना करने का प्रयास
D) आकाश-पाताल का अन्तर होना

View Answer

Related Questions - 3


बड़े न हुजे बिनु विरद बड़ाई पाए।

कहत धतूरे सों कनक, गहनो गढ़ो न जाए।।

 

प्रस्तुत पंक्तियों में कौन-सा अलंकार है ?


A) अतिशयोक्ति
B) प्रतिवस्तूपमा
C) अर्थान्तरन्यास
D) विरोधाभास

View Answer

Related Questions - 4


निम्नलिखित में ‘तत्सम’ शब्द है -


A) कान
B) जीभ
C) मुख
D) दाँत

View Answer

Related Questions - 5


‘ब्रजबुली’ नाम से जानी जाती है -


A) पंजाबी
B) मराठी
C) गुजराती
D) पुरानी बांग्ला

View Answer