Question :

नाभिकीय रिऐक्टर में विमन्दक का कार्य -


A) द्वितीयक (secondary) न्यूट्रॉनों की संख्या को विमन्दित करना है
B) द्वितीयक न्यूट्रॉनों को धीमा करना है
C) विखंडनीय नाभिकों की संख्या में वृद्धि करना है
D) विखंडन अभिक्रिया का नियंत्रण करना है

Answer : B

Description :



Related Questions - 1


जल का क्वथनांक -


A) सदैव ही 100˚C होता है
B) वायुमंडलीय दाब पर निर्भर होता है
C) जिस बर्तन में जल भरा होता है उसके पदार्थ पर निर्भर करता है
D) आपेक्षिक आर्द्रता पर निर्भर करता है

View Answer

Related Questions - 2


कांच के फ्लास्क में भरे द्रव के द्रव्यमान को गर्म करने पर -


A) द्रव का घनत्व अपरिवर्तनीय रहेगा
B) द्रव का घनत्व बढ़ जाएगा
C) फ्लास्क में द्रव का तल तुरन्त ही बढ़ना शुरु कर देगा
D) फ्लास्क में द्रव का तल पहले कुछ गिरेगा तत्पश्चात् बढ़ना प्रारम्भ करेगा।

View Answer

Related Questions - 3


वर्ण (रंग) का संबंध -


A) आयाम से है
B) आवृत्ति से है
C) गुणवत्ता से है
D) वेग से है

View Answer

Related Questions - 4


नाभिकीय रिऐक्टर में विमन्दक का कार्य -


A) द्वितीयक (secondary) न्यूट्रॉनों की संख्या को विमन्दित करना है
B) द्वितीयक न्यूट्रॉनों को धीमा करना है
C) विखंडनीय नाभिकों की संख्या में वृद्धि करना है
D) विखंडन अभिक्रिया का नियंत्रण करना है

View Answer

Related Questions - 5


एक गोल पीपे (बैरल) को खींच कर ले जाने की अपेक्षा लुढ़काना सुगम होता है क्योंकि - 


A) खींचने पर पीपे का संपूर्ण भार कार्यरत होता है।
B) सर्पी-घर्षण (sliding friction) की तुलना में लोटनिक घर्षण (rolling friction) कम होता हैं।
C) खींचते समय पीपे की सतह का अधिक क्षेत्रफल सड़क के संपर्क में आता है।
D) उपरोक्त के अलावा कई अन्य कारण हैं

View Answer