Question :

मौर्य साम्राज्य का केन्द्रीय न्यायालय कहाँ स्थित था ?


A) सुवर्णगिरी में
B) पाटलिपुत्र में
C) अति में
D) वैशाली में

Answer : B

Description :


मौर्य साम्राज्य का केन्द्रीय न्यायालय पाटलिपुत्र में स्थित था। कौटिल्य के अर्थशास्त्र में दो प्रकार के न्यायालय का उल्लेख मिलता है। (1) धर्मस्थीय (दीवानी न्यायालय) (2) कण्टक शोधन (फौजदारी-न्यायालया) प्रत्येक न्यायालय में तीन न्यायाधीश होते थे। सम्राट सर्वोच्च न्यायाधीश होता था। दीवानी न्यायालय के न्यायाधीश को धर्मस्थ या व्यवहारिक तथा फौजदारी न्यायालय के न्यायाधीश को प्रदेष्टि कहा जाता था।


Related Questions - 1


वज्जि संघ में कौन-सा राज्य सम्मिलित नहीं थी?


A) लिच्छवी
B) ज्ञातृक
C) विदेह
D) चेदि

View Answer

Related Questions - 2


विक्रमशिला विश्वविद्यालय के अवशेष किस नगर के पास है?


A) भागलपुर
B) नालन्दा
C) बोधगया
D) वैशाली

View Answer

Related Questions - 3


बिहार राज्य वनों से प्राप्त पदार्थो पर आधारित किस उद्योग में भारत में प्रथम स्थान रखता है।


A) इमारती लकड़ी उद्योग
B) बीड़ी उद्योग
C) कागज उद्योग
D) लौह उद्योग

View Answer

Related Questions - 4


बिहार में आलू का सर्वाधिक उत्पादन कहाँ होता है?


A) नालंदा-पटना
B) सीवान-सारण
C) पूर्णिया-कटिहार
D) मुजफ्फरपुर-पूर्वी चम्पारण

View Answer

Related Questions - 5


अशोक के 'धम्म' का मूल संदेश क्या है?


A) राजा के प्रति वफादारी
B) शांति एवं अहिंसा
C) बड़ों का सम्मान
D) उपर्युक्त में से कोई नहीं/ उपर्युक्त में से एक से अधिक

View Answer